अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति कानून के चलते राजस्थान में फूंके दलित विधायक और पूर्व विधायक  के घर

साभार: यूट्यूब

अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति कानून में बदलाव के खिलाफ हिंसक प्रदर्शनों का जो सिलसिला 2 अप्रैल को चला, उसने 3 अप्रैल को हिंसा का रूप ले लिया और राजस्थान के करौली में भीड़ ने दो नेताओं के घरों को निशाना बनाया।
भीड़ ने पूर्व भाजपा विधायक राजकुमारी जाटव और पूर्व राज्य मंत्री भरोसीलाल जाटव के घरों में आग लगा दी। इस घटना के बाद इलाके में कर्फ्यू लगा दिया गया।
मौजूदा विधायक राजकुमारी जाटव भाजपा नेता हैं, जबकि पूर्व विधायक कांग्रेस के नेता हैं। बताया जा रहा है कि घटना के वक्त इलाके में करीब 40 हजार लोग इक्ट्टा थे जिन्होंने कथित रूप से हमला बोला है।
बता दें कि अनुसूचित जाति एवं जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम में तत्काल गिरफ्तारी का प्रावधान हटाने के फैसले के विरोध में दलितों के भारत बंदके दौरान कई स्थानों पर हिंसक घटनाओं में एक दर्जन से ज्यादा लोगों की मौत हो गई और पुलिसकर्मियों समेत कई लोग घायल हो गए।