अनशन के बाद भी नहीं भे कारवाही

b pipara photoजिला बांदा, ब्लाक नरैनी, गांव पिपरा। हेंया के मड़ई बताइन कि 1 सितंबर से 6 सितंबर तक मजदूरी के मांग अउर आवास खातिर कीन गे अवैध वसूली के खिलाफ अनशन कीन। अनशन मा कारवाही का भरोसा दीन गा रहै, पै कारवाही नहीं भे आय।
रामऔतार अउर नारायण का कहब है कि उंई कालोनी के मांग दिसमबर 2014 मा प्रधान राजकिशोर से करिन। प्रधान हमसे कागज बनवावैं मा लागै वाले खर्चा के मांग करिस। पांच-पांच हजार पहिले लई लिहिस। फेर पांच-पांच हजार ब्लाक मा दें के नाम लई लिहिस, पै कालोनी के दूसर किस्त अउर कालोनी मा कीन गे काम के मजदूरी नहीं देवावत आय। श्यामा, कमलेश, कुन्ती अउर जियालाल कहिन कि उंई मनरेगा के तहत खन्ती खोदैं का काम चइत के महीना मा करिन रहै। दस-दस खन्ती का रूपिया आज भी परा है। प्रधान से मांगै तौ नेता गिरी करैं का आरोप लगावत है। यहिसे अशोक लाट तरे अनशन कीन रहन। अनशन करैं मा कारवाही का भरोसा दीन गा रहै।
प्रधान राजकिशोर कहत है कि चुनाव का समय नजदीक है। या मारे मड़ई कइयौतान के आरोप लगावत है। न मैं कालोनी खातिर रूपिया लीनेंव अउर न ही कोहू के मजदूरी शेष आय।
बी.ड़ी.ओ. रामकिशन कहिन कि या मामला के जांच चलत है। जांच के बाद ही कारवाही करैं या न करैं के बारे मा कुछ कहा जा सकत है