अधूरे परे आवास, पन्नी डार के करत गुजारा

m panvadi kasba khabar adhure bane avashमहोबा, ब्लाक पनवाड़ी, कस्बा पनवाड़ी। वार्ड नम्बर 13 के आदमियन खा प्रधान आशाराम ने इन्द्र आवास दिबाये हते। जीखी एक किस्त आई हे आवास अधूरे बने परे हे। आदमी पन्नी डार के रहत हे।
तिजिया ओर फुलारी कहत हे की हम बेवा ओर दलित ओरत हे। कछू काम नई कर पाउत हे। छह महिना पेहले हमें इन्द्रा आवास मिलो हतो। जीखी एक किस्त 35 हजार रुपइया मिली हे। जीसे अधूरे आवास बने डर हे। पुष्पा रानी ओर शिवकलिया कहत हे की हम मजदूर आदमी हे। ईट पत्थर को काम करके परिवार पालत हे। हम सोचत हते की आवास बन जेहे तो घर को खर्च ओर बच्चन की पढ़ाई अच्छे से हो जेहे। पे एक किस्त के अलावा दूसर नई आई हे। हमाये आवास अधूरे परे हे। हम पन्नी डार के रहत हे।
प्रधान आशाराम कहत हे की मोये आवास पास होंय की जानकरी हे। किस्त के बारे में कोनऊ जानकारी नइयां, न कोनऊ ने बताओ हे। बी.डी.ओ. प्रदीप कुमार पाण्डेय कहत हे की चुनाव के कारन नई आई हे। चुनाव के बाद जोन प्रधान बनहे ओई के खाता में दूसरी किस्त आहे।