अधिकारियों की लापरवाही का खामियाजा भुगत रहे मनरेगा मजदूर, महोबा जिले के बम्होरी खुर्द गाँव में

जिला महोबा, गांव बम्होरी खुर्द। इस गांव में एक साल पहले लोहिया आवास बनें थे। आवास तो बनकर तैयार हो गये लेकिन मजदूर आज भी मजदूरी के लिए भटक रहे हैं।
जसवंत ने बताया कि बीस दिन बाद मजदूरी देने को कहा था जो रूपये आये थे कुछ मजदूरों को दे दिया जिससे आवास में छपाई नहीं हो पाई है।
सुमतरानी का कहना है कि एक महीना की मजदूरी नहीं मिली है। अमर ने बताया कि मजदूरों की बीस बाइस हजार मजदूरी नहीं मिली हैं।
प्रधान प्रतिनिधि गोकुल यादव ने बताया कि नौ आवास बने है। मजदूरों की मजदूरी के लिए ब्लाक में दरखास दी है। जिला विकास अधिकारी विनय कुमार तिवारी का कहना है कि मनरेगा के रूपये नहीं आयें है। जैसे ही रूपये आयेंगे मजदूरों को दे दिए जायेंगे।
बाईलाइन-श्यामकली
Published on Nov 8, 2017