अतिरिक्त महानिरीक्षक पर केस

जिला बाराबंकी। बाराबंकी और फैज़ाबाद के हाइवे पर 23 अक्टूबर को तेज़ रफ्तार से आती गाड़ी ने साइकिल पर सवार दो लोगों को उड़ा दिया जिनमें से एक की मौत हो गई और दूसरा अस्पताल में भर्ती है। गाड़ी के ड्राइवर अतुल कुमार को हिरासत में ले लिया गया है।
बाराबंकी एस.पी. अब्दुल हमीद ने बताया कि गाड़ी लखनऊ के अजीत प्रताप सिंह के नाम पर है। अजीत देवरिया के स्टैम्प प्रशासन के अतिरिक्त महानिरीक्षक रामनंद सिंह के भाई हैं। ड्राइवर के बयान के अनुसार दोनों भाई गाड़ी में मौजूद थे और उन्होंने ही उसे गाड़ी रोकने से मना किया था।
बाराबंकी एस.पी. ने कहा कि दोनों से पूछताछ की जाएगी। अजीत सिंह को पुलिस ढूंढ रही है। गाड़ी प्राइवेट थी पर उस पर नीली बत्ती भी लगी थी। इस बात की जांच भी होगी।