अट्ठाइस दिन बाद भी नहीं लिखी गे बलात्कार के रपट

banda sapiजिला बांदा, ब्लाक तिन्दवारी का एक मोहल्ला। हेंया के एक औरत 26 अक्टूबर का एस.पी. का दरखास दइके रपट लिखे जाय के मांग करिस है। वहिकर आरोप रहै कि 29 सितंबर का वहिके नाबालिग लड़की के साथैं बलात्कार होय के रपट तिंदवारी थाना एस.ओ. आज तक नहीं लिखिस आय।

औरत का कहब है-“ मोहल्ला के ओम प्रकाश के औरत ममता मोरे सोलह साल के लड़की का आपन धर या बहाना कइके लिवा लइगे कि वहिके मामी के लड़की बुलाइस है। दुई तीन घण्टा बीत जाय के बाद मैं ममता से पूछे  कि मोर लड़की कहां है तौ वा कहिस कि पता नहीं कहां चली गे। कुछ देर बाद लड़की रोवत घर आई। बताइस कि ममता वहिका एक कमरा मा बेड़ दिहिस रहै। होंआ एक मनसवा पहिले से बंद रहै वा बलात्कार करिस है। एक घण्टा के बाद ममता दरवाजा खोलिस अउर एक हजार रूपिया देत रहै। धमकी दिहिस कि या मामला के बारे मा कोहू से बताये तौ जान से मार दीन जइहै। ममता मोरे घर का मोबाइल नम्बर वा मनसवा का दई दिहिस है तौ वा जान से मारै के धमकी देत है। ममता यहिनतान कइयौ लड़कियन साथैं कई चुकी है। वहिके ऊपर कारवाही न होय से वहिकार हौसला बुलंद है।”
तिन्दवारी थाना का मुंशी कमला कहत है कि वा रूपिया  ले  खातिर वहिके ऊपर झूठ आरोप लगावत है। एस.पी. आर.पी. पाण्डेय का कहब है कि मैं तिंदवारी थाना का आदेश दइके रपट लिखवइहौं। रपट के बाद उचित कारवाही कीन जई।