अगर कोटेदार काटे राशन तो कैसे चलेगा? महोबा जिले के सलैम खलसा गांव की कुछ यूँ है बात

जिला महोबा, गांव सलेम खलसा के आदमियन को आरोप हे के कोटेदार समय से राशन नइ देत जासे परेशान होके आदमियन ने परेशान होके 28 फरवरी को सप्लाई इस्पेक्टर को ज्ञापन दओ। जबकी कोटेदार ने इन आरोपन को गलत बताओ।
बाबादीन ने बताई गरीबन को राशन नइ वांटत काला बाजारी करत। अगर जनता लेबे जात तो गाली देत। सी एम् साब ने बितरण को आश्वाशन दओ।
जियालाल ने बताई के कछू आदमियन को मिलत कछू से के देत के जाओ नइया जी के राशन कार्ड नइया बासे कत के एक हजार रुपईया देओ जब बन हे तुमाओ राशन कार्ड। सुखी ने बताई के पांच तारीख लगी। ती दो महीना से नइ मिलो।
परशुराम ग्राम प्रधान ने बताई के बीस पचीस आदमी हे जिन्हे नइ मिल रओ राशन बे बोले के एस डी एम् नो चलो अगर बे नइ सुन हे तो डी एम् और ऊपर तक जेहे।
अनीता कोटेदार ने बताई के जो तो प्रधान के ऊपर हे अगर जनता कत तो बा एक बात अलग हो जात। हम हर महीना राशन बाट रए उन ने बोल दई के नइ बांटो। कल साहब आये ते उन ने कई के बताओ कोन कोन को नइ मिलो राशन तो कोऊ ने नइ कई के हमे नइ मिलो। हमाय घरे आके भी जे लोग झगड़ा करत।
एक बार इन ओरन ने हमे मारो भी हतो फिर हम प्रधान जी के पास गये तो उन ने भी कछू नइ कई। बोले के रिपोर्ट कर आओ तुम हमने रिपोर्ट करी सो कुछ दिन तो बंद रहे फिर छूट आय ते। हमसे गरीब आदमियन को कोनऊ शिकायत नइया जे बढ़े आदमी ही भड़का के ले जात। हम बीस किलो चावल पंद्रह किलो पीसी और दो किलो चीनी देत।
राम स्वरुप लेखपाल ने बताई के शिकायत भई ती तहसील में तो नाप साब के संगे आय ते नाप साब को दौड़ा हतो इते।
आलोक पटेरिया ने बताई के तबियत ख़राब हती बाकि जासे बाने पांच तारिख को राशन नइ बांट पाओ। जा के पहले भी शिकायत भई ती जब हम गये ते जांच करबे जब कछू आदमी दुगनो राशन मांग रए ते। और जई शिकायत अबे हे हमाई समझ से अब गये हे नाप साब तो पतों चलो जात।

रिपोर्टर- सुनीता प्रजापति 

Published on Mar 14, 2017

अगर कोटेदार काटे राशन तो कैसे चलेगा? महोबा जिले के सलैम खलसा गांव की कुछ यूँ है बात