अंतरराष्ट्रीय महिला फुटबॉल खिलाड़ी की डेंगू से मौत

14731326_1208873152502798_6132623802037073858_nयूपी की पहली अंतरराष्ट्रीय महिला फुटबॉल खिलाड़ी पूनम चौहान की डेंगू से मौत हो गई है। वह कई दिनों से डेंगू बुखार से पीड़ित थीं। 18 अक्तूबर की रात करीब नौ बजे पूनम ने आखिरी सांस ली।
पूनम के कोच मुश्ताक अली ने उन्हें नेशनल टीम का बेहतरीन खिलाड़ी बताया है। वह नेशनल टीम में जगह बनाने वाली यूपी की पहली महिला फुटबॉल खिलाड़ी थीं। वह साउथ एशियन खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली भारतीय टीम की सदस्य थीं। पूनम फिलहाल सिगरा स्टेडियम में फुटबॉल की ट्रेनर थीं।
बीमारी से पहले राज्य की फुटबॉल चैंपियनशिप की तैयारी में लगी हुई थीं। खिलाड़ी के पिता ने कहा कि उसकी तबियत अचानक खराब हुई। जब उसे अस्पताल ले जाया गया तो उसकी तबियत ज्यादा ही बिगड़ गई। उसके बचाने के लिए काफी प्रयास किया गया लेकिन बचाया नहीं जा सका।
खराब तबियत की जानकारी मिलते ही वहां कई अधिकारी पहुंच गए थे। इसके साथ ही अलग-अलग खेलों के खिलाड़ी भी मदद के लिए पहुंचे थे। सभी ने कहा कि जितने खून की जरूरत है वह देने के लिए तैयार हैं लेकिन सारे इंतजाम कम पड़ गए।